Blogu.org – World News Blog
Image default
Latest News

कोरोना वॉरियर्स जरा ध्यान दें! बाजार में बिक रही खादी इंडिया के नाम पर फर्जी PPE किट


नई दिल्ली: कोरोना (Corona) के वॉरियर जरा ध्यान दें. मार्केट में PPE किट के नाम पर फर्जीवाड़ा हो रहा है. ये बात तब पता चली जब बाजार में खादी इंडिया के नाम पर फर्जी PPE किट बिकने लगी. जबकि खादी हैंडमेड फैब्रिक के प्रोडक्ट बनाता है, पॉलिस्टर या पॉलिप्रोपिलीन के प्रोडक्ट नहीं बनाता, न हीं इस तरह के प्रोडक्ट के लिए कोई अप्रूवल देता है. यहां तक कि खादी इंडिया ने अब तक कोई पीपीई किट लॉन्च किया ही नहीं है, तब भी उसके नाम और ट्रेडमार्क के साथ खादी की पीपीई किट बोल कर बेचा जा रहा था. 

ये भी पढ़ें: ‘नए वायरस’ के मिशन पर चीन की ‘BATWOMEN’? इसी पर है कोरोना वायरस बनाने का आरोप

KVIC (खादी विलेज इंडस्ट्री कमीशन) के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना के अनुसार – खादी के नाम से पीपीई किट गलत तरीके से बेची जा रही थी. यह मामला सामने आते ही हमने कार्रवाई की है, क्योंकि यह फर्जी तरह से बेची जा रही थी. यह अवैध है. यह सिर्फ फर्जी किट बेचने का मामला नहीं है बल्कि कोरोना वॉरियर जैसे डॉक्टर्स पुलिस और बाकी लोगों की जान को खतरे में डालने का मामला भी है. हम इस पर कानूनी कार्रवाई कर रहे हैं.

दरअसल, फर्जी PPE किट निर्धारित मानदंडों के हिसाब से सही नहीं रहती ऐसे में वह सुरक्षा के सभी नियमों का पालन नहीं करतीं लिहाजा संक्रमण का भय है.

KVIC के डिप्टी सीईओ सत्य नारायण की जांच में पता लगा था कि दिल्ली की एक फर्म Nichia Corporation इस तरह की पीपीई किट खादी इंडिया के नाम से बेच रही. इसके बाद खादी इंडिया ने इस पर कार्रवाई का फैसला किया.

LIVE TV

इस समय खादी इंडिया केवल मास्क बना रहा है जो कि फेब्रिक का बना होता है. हालांकि PPE बनाने की प्लानिंग जरूर है लेकिन वह सेकंड लाइन जैसे पुलिस या डिलीवरी ब्वॉय के लिए PPE किट बनाने की है.





Source link

Related posts

Modi said- Kovid-19 does not see religion, caste, color, language and boundaries, our conduct should be brotherly | मोदी ने कहा- कोरोना ने पेशेवर जिंदगी बदल दी; घर दफ्तर और इंटरनेट मीटिंग रूम है; मैं भी बदलावों को अपना रहा हूं

diljeetratan

कोरोना से लड़ने के लिए इस इंस्टीट्यूट ने तैयार किए हर्बल उत्पाद, इस तरह बचाएंगे वायरस से

diljeetratan

Lockdown में भी इस तरह हल होंगी करदाताओं की GST से जुड़ी समस्याएं

diljeetratan

Leave a Comment